Tuesday, July 31, 2007

संजय दत्त को 6 साल की जेल - याहू ! ईन्डिया

मुंबई, मंगलवार, 31 जुलाई 2007   ( 18:20 IST )

मंगलवार की दोपहर को आर्थर रोड जेल स्थित टाडा अदालत ने सिने ‍अभिनेता संजय दत्त को आर्म्स एक्ट के तहत 6 साल की सजा सुनाई है। अदालत ने कहा कि संजय ने हथियार रखने का गुनाह किया है, इसलिए उन्हें माफ नहीं किया जा सकता। उन्हें अंडरवर्ल्ड के साथ संबंध रखने का भी दोषी माना है। अदालत ने संजू को हिरासत में लेने का आदेश दिया है। सजा सुनाने के पहले अदालत ने उनके गुनाह गिनाए। संजय दत्त 2 अगस्त तक आर्थर रोड जेल में रहेंगे।
संजय ने आत्मसमर्पण के लिए समय माँगा
संजय दत्त ने विशेष टाडा न्यायाधीश पी. डी. कोडे से आग्रह किया कि वे उसे आत्मसमर्पण के लिए कुछ समय दें। संजय ने अदालत में बोलने की अनुमति माँगी और हाथ बाँधकर कठघरे में जाकर बोला सर मैंने 14 साल पहले एक गलती की थी। कृपया मुझे अदालत में आत्मसमर्पण के लिए कुछ और समय दीजिए। कोडे ने जवाब दिया सभी गलतियाँ करते हैं। उन्होंने संजय से कहा कि वे उसे आत्मसमर्पण के लिए और समय नहीं दे सकते।
रूसी मुल्ला की सजा माफ : टाडा अदालत में न्यायाधीश पीडी कोडे ने रूसी मुल्ला को प्रोबेशन पर रिहा कर दिया। 64 वर्षीय मुल्ला को इस फैसले से काफी राहत मिली है। मुल्ला पर संजय दत्त की मदद करने का आरोप है। युसूफ नलवाला को 5 और करसी अदजानिया को 2 साल जेल की सजा सुनाई गई।
सनद रहे कि 1993 के बॉम्बे ब्लास्ट के तहत हथियार रखने के आरोपी संजय दत्त को अदालत ने दोषी माना था। अदालत में मौजूद सीबीआई के अधिकारियों को पूरा भरोसा था कि संजय दत्त को जरूर सजा मिलेगी।
1997 से लेकर 31 जुलाई 2007 तक संजय करीब 200 बार टाडा अदालत में हाजिर हुए और केवल 2 मौके ऐसे आए, जब वे अदालत से वापस घर नहीं लौटे। दो बार वे जेल गए और उन्होंने 16 महीनों की सजा भी भोगी। यह तीसरा मौका है कि जब वे अदालत से सीधे जेल जाएँगे।
मंगलवार को जब संजू अदालत पहुँचे तो वहाँ बड़ी संख्या में मीडिया और उनके करीबी दोस्त भी मौजूद थे। कुछ मित्र तो विदेश से भी उनका हौसला बढ़ाने आए थे। सब चाहते थे कि उनके मित्र के प्रति अदालत नरम रुख अपनाए, क्योंकि अब वे सुधर चुके हैं लेकिन अदालत ने सारी दलीलें ठुकरा दीं।
इससे पूर्व सरकारी वकील उज्ज्वल निकम ने कहा था कि हमने अदालत से संजय दत्त के लिए 10 साल की सजा माँगी है। निकम ने आशंका पहले ही व्यक्त कर दी थी कि संजू को कम से कम पाँच साल और अधिक से अधिक 10 साल की सजा सुनाई जा सकती है। और हुआ भी यही।
बॉलीवुड की फैसले पर नजर : टाडा अदालत के फैसले पर पूरे बॉलीवुड की नजरें लगी हुई थी, क्योंकि संजय दत्त पर करीब 50 करोड़ रुपए दाँव पर लगे हुए हैं। संजू की कई फिल्में अभी अधर में हैं।
सुप्रीम कोर्ट जा सकते हैं : संजय दत्त को सजा सुनाए जाने के बाद वे जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएँगे। देश के कानून में 3 साल से अधिक की सजा पर जमानत की अर्जी सुप्रीम कोर्ट में ही दी जा सकती है।
संजू अच्छे एक्टर हैं : सरकारी वकील निकम ने कहा कि इसमें कोई शक नहीं कि संजय एक अच्छे एक्टर हैं, लेकिन हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि उन्होंने एके 56 राइफल रखी थी और यह राइफल उन लोगों से खरीदी जो बॉम्बे ब्लास्ट में शरीक थे। लिहाजा वे माफी के हकदार नहीं हैं।
हर फैसले के लिए तैयार : सजा सुनाने के पूर्व संजू ने कहा था कि वे 'मंगल' अथवा 'अमंगल' दोनों के लिए तैयार हैं। कोर्ट जाने के पूर्व वे मंदिर गए थे और वहाँ से निकलने के बाद कहा था कि मैं भगवान का हर फैसला मानने के लिए तैयार हूँ। अदालत जो भी सजा मुझे देगी, वह स्वीकार होगी।

(स्रोत - वेबदुनिया

2 comments:

Shrish said...

अदालत ने बिलकुल स‌ही निर्णय किया। अपराधी को स‌जा मिलनी ही चाहिए चाहे वो कोई भी हो।

jota said...

big blog, my blog is about photos